एलोवेरा विलेज के नाम ने प्रसिद्ध हो रहा यह गांव, एलोवेरा की खेती कर महिलाएं बन रही आत्मनिर्भर

Published on: February 17, 2021 (00:13 IST)

रांची के नगड़ी प्रखंड स्थित देवरी गांव को लोग अब एलोवेरा विलेज' के नाम से जानते हैं। इस गांव के हर आंगन और खेत में पनप रहा एलोवेरा गांव की महिलाओं के आर्थिक स्वतंत्रता और आत्मनिर्भरता का माध्यम बन रहा है। गांव की दर्जनों महिलाएं एलोवेरा के पौधों को सींच खुद के आत्मनिर्भरता की कहानी बुन रहीं हैं। एलोवेरा की खेती करने वाली सरला कहतीं हैं एलोवेरा ने पूरे राज्य में गांव का मान बढ़ाया है। अब इस गांव को लोग एलोवेरा विलेज के नाम से जानते हैं। यह नाम हम सभी को गौरवान्वित करता है।

बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के सहयोग से 'एलोवेरा विलेज' में उगाए जा रहे एलोवेरा की मांग पूरे राज्य में है। महिलाएं 35 रुपये किलो के हिसाब से इसके पत्ते बेच रहीं हैं और पैसे कमा रही हैं। आपूर्ति से ज्यादा मांग होने के कारण अन्य खेतिहर परिवार भी एलोवेरा की खेती में आगे आ रहे हैं। सरला ने बताया कि एलोवेरा जेल की मांग इन दिनों खूब बढ़ी है। जेल निकालने की मशीन सरकार जल्द उपलब्ध करा रही है।

महिलाओं ने बताया कि इसके पौधारोपण में भी किसी प्रकार का खर्च नहीं होता। हां, इतना जरूर है कि अत्यधिक धूप की वजह से सिंचाई की जरूरत पड़ती है। पौधा से दूसरा पौधा तैयार होता है, जिसमें किसी प्रकार का निवेश नहीं होता। सरला ने कहा कि यदि राज्य सरकार का साथ यूं ही मिलता रहा तो वृहत पैमाने पर खेती करने से महिलाएं पीछे नहीं हटेंगी।

Comments

Want your advertisement here?
Contact us!

Latest News